Take a fresh look at your lifestyle.

उदयपुर में स्थापित हुई पन्नाधाय की आदमकद प्रतिमा, राजनाथ सिंह आज करेंगे लोकार्पण, देखें शेड्यूल

0 93

[ad_1]

हाइलाइट्स

उदयपुर नगर निगम की ओर से तैयार करवाई गई है पन्नाधाय की प्रतिमा
पन्नाधाय ने मेवाड़ राजवंश के उत्तराधिकारी को बचाने के लिए अपने पुत्र का बलिदान दिया था

उदयपुर. त्याग और बलिदान की मिसाल पन्नाधाय (Pannadhay) की आदमकद प्रतिमा का आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लोकार्पण करेंगे. लेकसिटी उदयपुर के गोवर्धन सागर तालाब की पाल पर पन्नाधाय की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई है. उदयपुर को बसाने वाले उदय सिंह को बचाने के लिए अपने पुत्र चंदन की कुर्बानी देने वाली पन्नाधाय से जुड़ा पूरा इतिहास पन्नाधाय पार्क में बताया हुआ है. इस पार्क में पन्नाधाय की प्रतिमा के साथ उदय सिंह और चंदन की प्रतिमा का भी लोकार्पण किया जायेगा. लोकार्पण समारोह दोपहर 12.15 आयोजित किया जायेगा. इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) के साथ केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी मौजूद रहेंगे.

मेवाड़ के दिग्गज बीजेपी नेता गुलाबचंद कटारिया महाराणा प्रताप पर विवादित टिप्पणी कर पहले ही राजपूत समाज के निशाने पर हैं. ऐसे में राजनाथ सिंह को कार्यक्रम में बुलाकर वे डैमेज कंट्रोल करने के साथ ही राजपूत समाज को साधने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर पन्ना धाय के त्याग और बलिदान की कहानी को जन-जन तक पहुंचाना भी प्रमुख उद्देश्य माना जा रहा है.

13 लाख रुपये की लागत से बनाया गया है तीनों प्रतिमाओं को
उदयपुर नगर निगम की ओर से इस पार्क में पन्नाधाय की 9 फीट 6 इंच की प्रतिमा बनाई गई है. इस प्रतिमा के साथ ही उदयपुर को बसाने वाले महाराणा उदय सिंह की प्रतिमा 5 फीट 6 इंच की है. वहीं पन्नाधाय के पुत्र चंदन की प्रतिमा 4 फीट 11 इंच की बनाई गई है. इन तीनों प्रतिमाओं का लोकार्पण राजनाथ सिंह द्वारा किया जाएगा. जयपुर के कारीगरों ने करीब 13 लाख रुपये की लागत से तीनों प्रतिमाओं को बनाया है. इनका कुल वजन 1130 किलो है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 11.30 बजे पहुंचेंगे
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के दौरे को लेकर जिला प्रशासन ने भी तैयारियां पूरी कर ली है. रक्षा मंत्री का विमान सुबह 11.30 बजे महाराणा प्रताप हवाई अड्डे पर उतरेगा. वहां से वे सीधे गोवर्धन सागर स्थित पन्नाधाय पार्क पहुंचेंगे. सिंह दोपहर करीब 1.05 बजे तक कार्यक्रम में शामिल होंगे. उसके बाद 2.15 बजे फिर महाराणा प्रताप हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे. रक्षा मंत्री की यात्रा को लेकर जिला प्रशासन ने सोमवार को ही रूट का ट्रायल कर लिया था. लोकार्पण स्थल पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गये हैं.

पन्नाधाय राणा सांगा के पुत्र उदय सिंह की धाय मां थी
मेवाड़ अपनी स्वामी भक्ति के लिए विशेष पहचान रखता है. पन्नाधाय राणा सांगा के पुत्र उदय सिंह की धाय मां थी. चित्तौड़ का शासक दासी का एक पुत्र बनवीर बनना चाहता था. उस दौरान उसने राज परिवार के सदस्यों की एक-एक कर हत्या कर दी. वह उदय सिंह की भी हत्या करना चाहता था. लेकिन पन्नाधाय को जब अपने गुप्त सूत्रों इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने मेवाड़ के उत्तराधिकारी उदय सिंह को बचाने के लिए उनके स्थान पर अपने पुत्र चंदन को सुला दिया. उदय सिंह को एक अन्य विश्वस्त सेवक के साथ महल से बाहर भेज दिया था.

पन्नाधाय को मेवाड़ राजवंश के उत्तराधिकारी को बचाने के लिए याद किया जाता है
बनवीर जब उदय सिंह की हत्या करने के लिए उनके कक्ष में पहुंचा और पन्नाधाय से उनके बारे में पूछा तो उन्होंने उस पलंग की ओर इशारा कर दिया जिस पर उदय सिंह की जगह पन्नाधाय ने अपने पुत्र चंदन को सुला दिया था. बनवीर ने उदय सिंह समझकर चंदन की हत्या कर दी. बनवीर को किसी तरह का शक ना हो इसलिए पन्नाधाय ने अपने पुत्र की हत्या पर अपनी आंख से एक भी आंसू तक नहीं निकलने दिया. उसके तुरंत बाद वे मेवाड़ के राजकुमार को बचाने के लिए महल से निकल पड़ी. तभी से पन्नाधाय की स्वामी भक्ति और अपने पुत्र का बलिदान देकर मेवाड़ राजवंश के उत्तराधिकारी को बचाने के लिए उन्हें याद किया जाता है.

Tags: Defense Minister Rajnath Singh, History of India, Rajasthan news, Udaipur news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.