Take a fresh look at your lifestyle.

गहलोत ने दूर की विधायक वाजिब अली और संदीप यादव की नाराजगी, बड़ी राजनीतिक नियुक्तियों से नवाजा

0 96

[ad_1]

हाइलाइट्स

बसपा से कांग्रेस में आये सभी विधायकों को मिली सत्ता में भागीदारी
विधानसभा चुनाव के बाद बसपा से जीते सभी 6 विधायक कांग्रेस में शामिल हो गये थे

जयपुर. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुये विधायकों की नाराजगी को दूर कर दिया है. गहलोत सरकार ने बसपा से कांग्रेस में शामिल होने वाले विधायक वाजिब अली और संदीप यादव (MLA Wajib Ali and Sandeep Yadav) को बड़ी राजनीतिक नियुक्तियों से नवाजा हैं. इनमें वाजिब अली को राजस्थान राज्य खाद्य आयोग में अध्यक्ष बनाया गया है. वहीं संदीप यादव को भिवाड़ी शहरी आधारभूत विकास बोर्ड में अध्यक्ष पद का दायित्व दिया गया है. इन नियुक्तियों की एवज में इन्हें कोई वेतन-भत्ते और आर्थिक परिलाभ नहीं मिलेंगे. अब बसपा से कांग्रेस में आये सभी छह विधायकों को सत्ता में भागीदारी मिल चुकी है. चार विधायकों को पहले ही सरकार में एडजस्ट किया जा चुका है.

गहलोत सरकार ने एक बार से राजस्थान में राजनीतिक नियुक्तियां देने का सिलसिला शुरू कर दिया है. इस चरण में सबसे पहले बसपा से आये विधायकों को राजनीतिक नियुक्तियों का तोहफा दिया गया है. ये विधायक कांग्रेस में शामिल होने के बाद भी सत्ता में भागीदारी नहीं मिलने से नाराज चल रहे थे. लिहाजा सरकार ने सबसे पहले उनको पद देकर उनकी नाराजगी दूर करने का प्रयास किया है. ये दोनों विधायक बार-बार सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे थे.

फिलहाल दोनों विधायक ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हैं
राजस्थान राज्य खाद्य आयोग में अध्यक्ष बनाये गये वाजिब अली भरतपुर के नगर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. संदीप यादव अलवर की तिजारा विधानसभा सीट से विधायक हैं. इन्होंने बीते विधानसभा चुनाव के बाद अपने चार अन्य साथियों के साथ बसपा का दामन छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था. उसके बाद उनमें से चार विधायकों को सरकार ने सत्ता में भागीदारी दे दी गई थी. इन दो विधायकों को कोई पद नहीं मिलने से ये पिछले काफी समय से सरकार से नाराज चल रहे थे. फिलहाल ये दोनों विधायक ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हैं.

पहले चार विधायकों को इन पदों से नवाजा गया है
बसपा से कांग्रेस में शामिल हुये 6 विधायकों में से राजेंद्र गुढ़ा राज्य सरकार में राज्य मंत्री हैं. गुढा झुंझुनूं जिले की उदयपुरवाटी से विधायक हैं. लाखन सिंह मीणा डांग विकास बोर्ड के अध्यक्ष हैं. लाखन सिंह करौली से विधायक हैं. वहीं जोगिंदर सिंह अवाना देवनारायण बोर्ड के अध्यक्ष और दीपचंद खेरिया राज्य किसान आयोग में उपाध्यक्ष हैं. जोगिंदर सिंह भरतपुर के नदबई से और दीपचंद खेरिया अलवर के किशनगढ़ बास से विधायक हैं.

Tags: Ashok Gehlot Government, BSP MLA, Congress politics, Jaipur news, Rajasthan news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.