Take a fresh look at your lifestyle.

टीचर का हुआ ट्रांसफर तो छात्राएं फूट-फूटकर रोईं, स्कूल का बाकी स्टाफ भी हुआ भावुक, छलके आंसू

0 97

[ad_1]

दौलत पारीक, टोंक. प्रदेश में शिक्षक तबादले (Teacher’s transfer) की अलग-अलग तस्वीरें सामने आ रही हैं. बांसवाड़ा से एक शिक्षक मुकेश का तबादला हुआ तो 40 बच्चे टीसी कटवाकर 600 किमी दूर बामनवास में उनसे पढ़ने आ गए. इधर टोंक के देवली से अंग्रेजी की शिक्षिका (English Teacher) का तबादला हुआ तो भावुक कर देने वाली तस्वीरें (Emotional pictures) सामने आईं. छात्र-छात्राओं को अपनी टीचर से इतना लगाव था कि विदाई (Farewell) में उनकी आंखें ही छलक आईं.

टोंक जिले के देवली उपखंड की राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय चांदसिंहपुरा में टीचर की विदाई के समय माहौल भावुक हो गया. इसका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें टीचर और छात्राएं रो रहीं हैं. हर कोई अंग्रेजी की टीचर के अध्यापन और व्यवहार की तारीफ कर रहा है.

बीकानेर तबादले पर बच्चों का प्यार देख गले लगाया
दरअसल, इंग्लिश की टीचर गरिमा कंवरिया का तबादला बीकानेर हो गया. टीचर की विदाई पर वहां की छात्राएं फूट-फूटकर रोईं. स्कूल का बाकी स्टाफ भी भावुक हो गया. विदाई का वक्त आया तो अपनी फेवरेट टीचर से बिछड़ने का दुख आंखों के रास्ते छलक आया. बच्चों का प्यार देख शिक्षिका भी खुद को रोक नहीं पाईं. छात्राओं को गले लगाकर वो भी रोने लगीं.

रेप पीड़ित दुल्हन वर्जिनिटी टेस्ट में फेल, शुद्धिकरण के नाम पर खाप ने लगाया 10 लाख जुर्माना

सीनियर टीचर की पहली नियुक्ति इसी स्कूल में मिली थी
गरिमा कंवरिया चार साल पहले सीनियर टीचर के रूप में नियुक्ति इसी स्कूल में हुई थी. गरिमा यहां छात्र-छात्राओं को इंग्लिश पढ़ाती थी. गरिमा न सिर्फ बच्चों की पसंदीदा थी, बल्कि अच्छे व्यवहार के कारण अभिभावकों की भी चहेती थी. स्कूल के प्रिंसिपल नंद किशोर मीणा ने बताया कि गरिमा चार सालों से यहां पढ़ा रही थीं. गरिमा की क्लास का रिजल्ट चारों वर्षों में शत-प्रतिशत रहा है. साथ ही, शिक्षिका ने अपने कार्य के प्रति कभी लापरवाही भी नहीं बरती.

Tags: Rajasthan news, Students, Teacher Transfer, Tonk news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.