Take a fresh look at your lifestyle.

टीचर मां के रिटायरमेंट पर बेटे ने दिया अनूठा तोहफा, स्कूल से हेलिकॉप्टर में लाया घर, उमड़ी भीड़

0 96

[ad_1]

हाइलाइट्स

अजमेर में टीचर सुशीला चौहान का रिटायरमेंट बना यादगार
बेटे योगेश ने कहा मां के लिये कुछ खास करना चाहता था

अजमेर. अमेरिका में रहने वाले अजमेर के एक बेटे ने अपनी टीचर मां (Teacher mother) को उनके रिटायरमेंट पर ऐसा शानदार तोहफा दिया कि वह इलाके में चर्चा का विषय बन गया. ऐसा तोहफा पाकर मां की आंखों से खुशी के आंसू निकल पड़े. मां के रिटायर होने पर बेटे ने उनको घर लाने के लिये न केवल हेलिकॉप्टर (Helicopter) भेजा बल्कि जब वे हेलीपैड पर उतरी तो बैंड की मधुर स्वर लहरियों और पुष्प वर्षा के बीच उनका जोरदार स्वागत किया गया. एक बेटे की ओर से मां को दिया गया यह शानदार तोहफा सोशल मीडिया में जोरदार तरीके से वायरल हो रहा है.

दरअसल अजमेर की सुशीला चौहान जिले के केसरपुरा सरकारी स्कूल में बतौर टीचर कार्यरत थी. सुशीला चौहान शनिवार को सरकारी सेवा से रिटायर हुईं थी. मां के रिटायरमेंट को यादगार बनाने के लिये अमेरिका में रहने वाले उनके बेटे योगेश ने ऐसा आयोजन किया कि गांव वाले देखते रहे गये. वहीं सुशीला चौहान की आंखें भी नम हो गईं.

स्कूल से घर तक हेलिकॉप्टर से लाया गया
मां को यादगार तोहफा देने के लिये योगेश ने उनको हेलिकॉप्टर की सैर कराई. मां को रिटायरमेंट के बाद स्कूल से अजमेर तक हेलिकॉप्टर से लाया गया. इसके लिये घर के नजदीक तोपदड़ा मैदान में अस्थाई हैलीपेड बनाया गया. बेटे के इस भावपूर्ण आयोजन पर शिक्षिका मां काफी भावुक हो गई. सुशीला चौहान के लिए यह दिन एक और वजह से भी यादगार बन गया.

मां बोलीं खुशी को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता
उनके परिवार में बरसों बाद जन्मी कन्या रूपी पोती का भी उन्होंने शनिवार को ही दीदार किया. सुशीला चौहान की पोती का जन्म कोरोना काल में अमेरिका में हुआ था. सुशीला चौहान ने शनिवार को ही पहली बार अपनी पोती को देखा. इस मौके पर सुशीला चौहान ने कहा कि वे अपनी इस खुशी को शब्दों में बयां नहीं कर सकती हैं. बकौल सुशीला उनकी इच्छा थी कि वह पोती को हेलिकॉप्टर से घर लायेंगी. लेकिन बेटा उनको हेलिकॉप्टर घर लाया है.

बेटा बोला मां के लिख कुछ खास करना चाहता था
टीचर सुशीला चौहान के इस यादगार रिटायरमेंट के बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी साक्षी बने. तोपदड़ा मैदान में बनाए गए अस्थाई हेलीपेड पर बड़ी संख्या में लोग उनका अभिवादन के लिए पहुंचे. जैसे ही हेलिकॉप्टर हैलीपैड पर उतरा तो बैंड की मधुर स्वर लहरियों और पुष्प वर्षा के बीच सुशीला चौहान का जोरदार स्वागत किया गया. योगेश का कहना है कि मेरी मां एक शिक्षक के रूप में सेवानिवृत्त हुई हैं. मैं उनके लिए कुछ खास करना चाहता था. इसलिये उनको घर लाने के लिये हेलिकॉप्टर राइड बुक करने का फैसला किया.

सीकर में भी पिछले दिनों एक बेटे ने मां को ऐसा तोहफा दिया था
स्थानीय पार्षद श्रवण कहते हैं कि रिटायरमेंट जीवन के दूसरे अध्याय की शुरुआत मानी जाती है. इसमें शासकीय सेवा से मुक्त होकर कर्मचारी अपनी नई प्राथमिकताओं के साथ जीवन की नई शुरुआत करता है. ऐसे में शिक्षिका सुशीला चौहान के रिटायरमेंट पर उनके बेटे की ओर से दिया गया अभूतपूर्व तोहफा ना सिर्फ उन्हें पारिवारिक रूप से खुशियों से लबरेज कर गया बल्कि सैंकड़ों की संख्या में पहुंचे लोगों ने भी उनकी खुशियों को दुगना कर दिया. उल्लेखनीय है कि हाल ही ऐसा ही तोहफा राजस्थान के सीकर जिले में भी एक बेटे ने अपनी मां को दिया था.

Tags: Ajmer news, Amazing news, Rajasthan news, Teacher

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.