Take a fresh look at your lifestyle.

देवास पुलिस पर लगा बर्बरता का आरोप : पिटाई में एक फेरी वाले की मौत, दूसरा घायल!

0 95

[ad_1]

देवास. देवास में पुलिस पर बर्बरता का आरोप लगा है. यहां फेरी लगाकर मसाला बेचने वाले एक युवक की पुलिस हिरासत के बाद मौत हो गयी. उसका साथी बुरी तरह जख्मी है. साथी का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें नकली माल बेचने के आरोप में पकड़ लिया था और पैसे मांगे थे. मांग पूरी न कर ने पर उन्हें बुरी तरह पीटा गया. उसके बाद उसके साथी मुकेश की मौत हो गयी. पुलिस पिटाई में घायल जिस युवक की तस्वीरें सामने आयी हैं वो दिल दहला देने वाली हैं.

नकली मसाला (हल्दी मिर्ची) बेचने के आरोप में देवास पुलिस ने औद्योगिक थाना पर इंदौर के दो युवकों मुकेश और ईश्वर सिंह को शनिवार के दिन पकड़ा था. दोनों आपस में साढ़ू भाई थे. परिवार का आरोप है कि पुलिस ने दोनों को बेतहाशा पीटा. पिटाई में मुकेश को गहरी चोट आयी थीं. उसे इलाज के लिए इंदौर में भर्ती किया गया था. जहां मुकेश की मौत हो गयी. बताया जा रहा है कि मुकेश और ईश्वर से पुलिस ने पैसे मांगे थे. नहीं देने पर उनके साथ मारपीट की गयी. उसके बाद दोनों की यह स्थिति हुई.

पुलिस ने रात भर पीटा
मिली जानकारी के अनुसार 34 वर्षीय मुकेश और उसका साढ़ू ईश्वर सिंह दोनों इंदौर के सियागंज से हल्दी मिर्ची खरीद कर देवास बेचने आए थे. यहां नकली मसाले बेचने के आरोप में पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया था. पूछताछ के दौरान ही उनके साथ मारपीट की गयी. बाद में पुलिस ने परिवार को फोन लगाकर सूचना दी कि मुकेश की हालत खराब है. मुकेश को देवास के जिला अस्पताल ले जाया गया जहां से इंदौर रेफर कर दिया. वहां इलाज के दौरान मुकेश की मौत हो गयी.

ये भी पढ़ें-उमा भारती के अभियान के बाद भी एमपी में बढ़ी शराब की बिक्री, कांग्रेस ने सरकार से मांगा जवाब

शरीर पर मारपीट के गहरे निशान
मुकेश की मौत के बाद परिवार वाले बुरी तरह घायल ईश्वर को लेकर देवास एसपी कार्यालय पहुंचे. परिवार ने औद्योगिक थाना पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया.ईश्वर के पूरे शरीर पर अंदरूनी चोट के गहरे निशान हैं. उसने एडिशनल एसपी मनजीत चावला को अपने निशान दिखाए. उसके बाद ईश्वर को मेडिकल जांच के लिए पुलिस जिला अस्पताल ले गयी.

पुलिस ने पैसे मांगे
घायल ईश्वर ने बयान दिया कि हम मसाला बेचने आए थे. पुलिस ने शनिवार को बंद कर जमकर पीटा. रूपये की मांग की. पुलिस की मारपीट से मुकेश की मौत हुई है. मुझे भी जमकर पीटा. ईश्वर ने बताया कि उनसे ₹15 हजार मांगे गए थे. पैसे नहीं दिए जाने पर दोनों को रातभर बुरी तरह पीटा. जहां मुकेश की इंदौर में इलाज के दौरान मौत हो गई.

CCTV के DVR की जांच
मामले में एडिशनल एसपी मनजीत चावला ने बयान दिया है कि घायल को मेडिकल के लिए भेजा गया है। थाने में लगे CCTV के DVR को जब्त करने के निर्देश दिए गए हैं. इंदौर से शार्ट PM रिपोर्ट बुलवाई गई है. दोषी पाए जाने पर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

मृतक के 4 बच्चे
मृतक मुकेश मंदसौर के मेलखेड़ा का रहने वाला था. इंदौर में किराये के मकान में रहता था. उसकी पत्नी और 4 मासूम बच्चे हैं. इधर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर करणी सेना के कुछ लोग भी पहुंचे और पीड़ित के पक्ष में पुलिस से बातचीत कर 10 लाख रुपए मुआवजा दिलाने की मांग की.

Tags: Dewas News, Madhya pradesh latest news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.