Take a fresh look at your lifestyle.

मुंह पर कपड़ा बांधकर अपने ही मालिक को ब्लैक करने पहुंचे कर्मचारी, चढ़ गए पुलिस के हत्थे

0 104

[ad_1]

जबलपुर. जबलपुर में दो युवकों ने पैसों की तंगी दूर करने के लिए फिरौती का अजीबो गरीब तरीका अपनाया. उन्हें पैसे तो नहीं मिले कानून की गिरफ्त में जरूर आ गए. ये युवक एक गैस एजेंसी मालिक को धमकाकर फिरौती वसूलने की फिराक में थे. लेकिन उनका प्लान फेल हो गया.

आमतौर पर अपराधी तत्व किसी को ब्लैकमेल करने या फिरौती मांगने के लिए मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं या चिट्ठी पहुंचाते हैं. या फिर दूसरे तरीकों से धमकी देते हैं. ताकि उनकी पहचान उजागर ना हो. लेकिन गोरखपुर थाना क्षेत्र में गैस एजेंसी के संचालक को ब्लैकमेल करने के लिए दो युवकों ने ऐसा तरीका अपनाया कि पुलिस के हत्थे चढ़ गए.

मुंह पर कपड़ा-बंद लिफाफा
युवक मुंह पर कपड़ा बांधकर गोरखपुर क्षेत्र में गैस एजेंसी चलाने वाले जगदीश सेन के दफ्तर पहुंच गए. उन्हें एक बंद लिफाफा देकर लौट गए. जब एजेंसी संचालक ने लिफाफा खोलकर चिट्ठी पढ़ी तो उनके होश उड़ गए, क्योंकि उस लेटर में उनके निजी जीवन और व्यापार से जुड़ी जानकारियां लिखी थीं. साथ ही 20 लाख रूपये देने के लिए धमकाया गया था. आरोपियों ने लेटर के माध्यम से धमकी दी थी कि यदि उन्हें पैसे नहीं दिए तो वे उनके राज सबके सामने जाहिर कर देंगे.

पुराने कर्मचारी निकले आरोपी
जगदीश सेन ने लेटर के साथ थाने पहुंचकर एफआईआर दर्ज कराई. उसके बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की. एएसपी के मुताबिक दोनों युवक बिना नंबर की मोटरसाइकिल से एजेंसी पहुंचे थे. शिकायत मिलते ही बिना नंबर की गाड़ी पर उस क्षेत्र में घूमने वालों की तलाश शुरू की गई. शनिवार की सुबह पुलिस ने संदेह के आधार पर अचिंत बेन और शिव बेन को हिरासत में लिया. पूछताछ की गई तो पता चला कि दोनों युवक जगदीश सेन की एजेंसी में ही काम करते थे. लेकिन तीन महीनों से वे दोनों काम पर नहीं आ रहे थे. दोनों युवक चोरी के आदतन अपराधी हैं और जिस बाइक से वे घूमते थे वह भी चोरी की थी. पुलिस अब यह पता लगाने का प्रयास कर रही है कि उन्होंने किन कारणों से अपने ही मालिक को पैसों के लिए धमकाया था.

Tags: Crime in Jabalpur, Madhya pradesh latest news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.