Take a fresh look at your lifestyle.

Palace on Wheels: 12 अक्टूबर से पटरी पर दौड़ेगी शाही ट्रेन, जानें रोमांचक सफर का कितना है किराया

0 97

[ad_1]

हाइलाइट्स

शाही ट्रेन के कोच फाइव स्टार होटल के लग्जरी कमरों से कम नहीं हैं
पैलेस ऑन व्हील्स ट्रेन का बूंदी और अजमेर में भी ठहराव कराने की कवायद चल रही है

महिमा जैन.

जयपुर. राजस्थान टूरिज्म की आन बान और शान कही जाने वाली लग्जरी ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स (Palace on Wheels) के चलने का इंतजार कर रहे पर्यटकों को 12 अक्टूबर तक इंतजार और करना पड़ेगा. राजस्थान पर्यटन विकास निगम (Rajasthan Tourism Development Corporation) ने इस ट्रेन की पहली ट्रिप को 12 अक्टूबर से चलाने का निर्णय किया है. उससे पहले 28 सितंबर को ट्रेन का ट्रायल राउंड होगा. उसमें ट्रेन की सभी सुख-सुविधाओं और सिक्योरिटी फीचर्स की जांच की जाएगी. ट्रेन के ट्रायल रन में टेक्निकल टीम और आरटीडीसी के अध्यक्ष धर्मेंद्र राठौड़ सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहेंगे.

बताया जा रहा है फिल्म निर्माता एवं निर्देशक विशाल भारद्वाज इस ट्रेन में शूटिंग की तैयारी कर रहे हैं. उन्होंने इसके लिए आरटीडीसी को एक प्रस्ताव भेजा है. आरटीडीसी अधिकारियों के मुताबिक सितंबर में जिन पर्यटकों की बुकिंग है उसे अक्टूबर में शिफ्ट कर दिया गया है. इसके साथ ही पर्यटकों को बुकिंग अक्टूबर से आगे भी शिफ्ट का करने का ऑप्शन दिया गया है.

ट्रेन से जुड़े सभी मसलों को सुलझा लिया गया है
चेयरमैन धर्मेन्द्र राठौड़ ने बताया कि आरटीडीसी पैलेस ऑन व्हील्स को इसी पर्यटक सीजन में समय पर चलाने के लिए प्रतिबद्ध है. इसके लिए केन्द्र एवं राज्य स्तर पर वार्ता कर सभी मसलों को सुलझा लिया गया है. रेल मंत्रालय की ओर से ‘भारत गौरव ट्रेन पालिसी’ लागू करने के बाद नये पैटर्न पर निश्चित राजस्व सुनिश्चित करते हुए शाही रेल का स्वामित्व RTDC के पास रख इसे 4 M मॉडल पर संचालित करने की स्वीकृति केबिनेट की ओर से प्रदान की जा चुकी है.

एक यात्री का एक रात का किराया 55 हजार रुपये है
इस ट्रेन में एक यात्री का एक रात का किराया 55 हजार रुपये निर्धारित है. ऑफ सीजन में इसमें छूट दी जाएगी. ये 43 हजार रुपये में भी मिल सकेगा. इसमें अधिकतम 1.54 लाख (कम से कम तीन दिन की बुकिंग) रुपए तक किराया है. इस किराए में रहने और खाने की सुविधा शामिल है. बेवरेज (शराब-बीयर), लॉन्ड्री और स्पा के लिए अलग से चार्ज देना होगा. 5 साल तक के बच्चों के लिए कोई शुल्क नहीं है. जबकि 5 से 10 साल के आयु वर्ग के लिए आधा किराया लिया जाता है.

बूंदी और अजमेर स्टेशनों पर भी रोकने की कवायद चल रही है
राठौड़ ने बताया कि इस ट्रेन के स्टॉपेज में भी बढ़ोतरी की योजना है. ट्रेन अपने निर्धारित दिन हर बुधवार को दिल्ली से चलेगी और जयपुर, सवाई माधोपुर, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर तथा आगरा में पर्यटकों के लिए रुकेगी. पर्यटकों को वहां के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर घुमाएगी. इस दौरान ट्रेन को कुछ समय के लिए बूंदी और अजमेर स्टेशनों पर भी रोकने की कवायद चल रही है. कुछ घंटे के लिए इस ट्रेन को इन जिलों में रोककर वहां के भी एक-दो पर्यटन स्थलों को दिखाया जा सकता है.

ट्रेन के कोच 5 सितारा होटल के लग्जरी कमरों से कम नहीं हैं
उल्लेखनीय है कि ट्रेन के कोच किसी 5 सितारा होटल के लग्जरी कमरों से कम नहीं हैं. इसमें साधारण से लेकर डीलक्स कमरे तक की व्यवस्था है. इस ट्रेन के डिब्बे अलग-अलग जिलों की खासियत को दर्शाते हैं. जैसे-जोधपुर वाले डिब्बे में जोधपुर शहर के प्रमुख पर्यटन और हेरिटेज साइट्स के पिक्चर और पेटिंग्स होती है. कोच में पर्यटकों किसी राज परिवार के सदस्य की तरह फैसिलेटी दी जाती है.

दूसरे राज्य भी इस तरह की लग्जरी ट्रेन ऑपरेट करते हैं
भारत में पैलेस ऑन व्हील्स के अलावा दूसरे राज्य भी इस तरह की लग्जरी ट्रेन ऑपरेट करते हैं. इंडियन रेलवे के साथ मिलकर चलाई जाने वाली इन ट्रेनों में किराया 15 लाख रुपए तक है. इनके किराये, सीटिंग अरेंजमेंट और रूट में समय-समय पर बदलाव भी होता रहता है.

Tags: Indian Railway news, Irctc, Jaipur news, Rajasthan news, Rajasthan Tourism Department, Tourist

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.