Take a fresh look at your lifestyle.

एमपी में आतंकी साजिशों के लिए क्या विदेश से आ रहा है पैसा, ISIS आतंकी मॉड्यूल के PFI कनेक्शन की जांच

0 105

[ad_1]

भोपाल. आतंकियों की नजर में चढ़ चुके मध्य प्रदेश के तार क्या PFI से भी जुड़े हुए हैं. मध्यप्रदेश में आईएसआईएस आतंकी मॉड्यूल के पीएफआई कनेक्शन की जांच भी की जा रही है. शक है कि विदेशों से फंडिग की जा रही है. पुलिस की नजर कुछ संदिग्धों पर है जिनके अकाउंट खंगाले जा रहे हैं. उनके मोबाइल फोन और लैपटॉप के क्लोन की जांच भी एनआईए की टीम कर रही है. यह आईएसआईएस नाम से टेलिग्राम ग्रुप भी चला रहे थे.

एनआईए ने 6 राज्यों के साथ मध्य प्रदेश में रायसेन के सिलवानी और भोपाल में छापा मारा था. भोपाल में ताजुल मसाजिद के मदरसे में पढ़ाई करने वाले जुबेर मंसूरी को पकड़ा गया था और अब्बास नगर से अनस को कस्टडी में लिया गया था. सूत्रों ने बताया है कि NIA की गिरफ्त में आए जुबेर और अनस के  बैंक अकाउंट खंगाले जा रहे हैं. उनके विदेश से फंडिंग होने के सबूत मिले हैं. दोनों संदिग्धों के परिवार और करीबियों के भी बैंक अकाउंट की जांच की जा रही है.

महिलाओं की आईडी और अकाउंट का इस्तेमाल
मध्य प्रदेश के आतंकी कनेक्शन में नये तार हाथ लग रहे हैं. सूत्रों ने बताया है कि इस विदेशी फंडिंग की मदद से युवाओं का ब्रेन वॉश कर मॉड्यूल से उन्हें जोड़ा जा रहा था. स्लीपर सेल नेटवर्क चलाने के लिए महिलाओं की आईडी और अकाउंट का इस्तेमाल किया जा रहा था. ISIS मॉड्यूल के स्लीपर प्रदेश के कई जिलों में सक्रिय होने के इनपुट भी मिले हैं. पकड़े गए संदिग्धों पर सोशल मीडिया के जरिए जिहादी  जहर फैलाने का आरोप है.

ये भी पढ़ें- दिग्विजय सिंह का शिवराज सरकार और चुनाव आयोग पर सीधा हमला : कहा-एमपी में चुनाव बंद कर देना चाहिए!

PFI से कनेक्शन की जांच
एमपी के ISIS आतंकी मॉड्यूल के PFI से कनेक्शन की जांच हो रही है. प्रदेश के कई जिलों में पीएफआई की सक्रियता के इनपुट भी मिले हैं. आईएसआईएस मॉड्यूल से जुड़े भोपाल से पकड़े गए जुबेर और अनस से अज्ञात स्थान पर पूछताछ की गई थी. पीएफआई, आईएसआईएस की एमपी में सक्रियता ने सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ा दिए हैं.

पूछताछ के बाद छोड़ा…
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने एनआईए कार्रवाई पर कहा कि 2 युवकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था. मोहम्मद अनस और जुबेर को पूछताछ के बाद छोड़ दिया है. आईएसआईएस नाम से इन्होंने टेलीग्राम ग्रुप बनाया था इसकी जांच के लिए मोबाइल और लैपटॉप के क्लोन बनाकर NIA की टीम लेकर गयी है. दोनों को धारा 160 के नोटिस के तहत तलब किया गया था. सेंट्रल एजेंसी आई थी. युवकों से बिहार के फुलवारी शरीफ आतंकवादी मामले में पूछताछ हुई. सिलवानी में भी छापे मारे गए थे. मध्यप्रदेश में भी पुलिस को अलर्ट किया जाएगा कि संदिग्धों पर नज़र रखें. संदिग्ध किरायदारों की जांच की जाए और मकान मालिक से भी कहा जाएगा संदिग्ध लोगों को मकान ना दें. यदि कोई जानकारी है तो उसकी सूचना इलाके के थाने को फौरन दें.

Tags: Madhya pradesh latest news, Terrorists Funding, World terrorism

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.