Take a fresh look at your lifestyle.

साइबर क्राइम पर काबू पाने भोपाल आ रहे हैं दुनियाभर के दिग्गज, 10 दिन चलेगी समिट

0 98

[ad_1]

भोपाल. राजधानी भोपाल में साइबर क्राइम इन्वेस्टिगेशन पर महामंथन होने जा रहा है. इसमें विदेश के एक्सपर्ट साइबर का पाठ पढ़ाएंगे. साइबर क्राइम कंट्रोल करने की ट्रेनिंग दी जाएगी. देश के सभी राज्यों की एजेंसियों के साथ केंद्र की तमाम एजेंसियों के अफसर इसमें शामिल होंगे.

प्रशासन अकादमी में 12 सितंबर से  10 दिवसीय साइबर क्राइम इन्वेस्टिगेशन समिट–2022 शुरू हो रहा है. देश के सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों के स्टेट और सेंट्रल एजेंसियों के 6000 अफसर इसमें शामिल होंगे. देश भर से 200 से ज्यादा अधिकारी भोपाल आएंगे. जबकि बाकी ऑनलाइन शामिल होंगे. इस समिट में यूनिसेफ, इंटरपोल, सिंगापुर, नेशनल सायबर क्राइम लॉ एनफोर्समेंट यूके पुलिस, नेशनल व्हाइट कॉलर क्राइम सेंटर यूएसए, एनपीए हैदराबाद, सुप्रीम कोर्ट हाईकोर्ट के वकील के साथ कई प्राइवेट एक्सपर्ट सेशन लेंगे. समिट में डाटा प्राइवेसी, स्पूफ कॉलिंग, ड्रोन टेक्नोलॉजी, मेटर्स रिलेटेड टू डॉट, voip, वीपीएन, एंटी ड्रोन, डिजिटल फॉरेंसिक,  लोन एप, क्रिप्टो करेंसी, हैकिंग, इंटरस्टेट कोआर्डिनेशन, डार्क वेब, न्यू टेक्नोलॉजी, इंटरनेशनल क्राइम, वूमेन एंड चाइल्ड क्राइम आदि विषयों पर चर्चा होगी. समिट में सेंट्रल एजेंसी एनआईए, सीबीआई, आईवीआईटी समेत कई एजेंसियां शामिल होंगी.

मिशन सायबर सेफ वर्ल्‍ड…
स्टेट साइबर पुलिस के एडीजी योगेश देशमुख ने जानकारी दी कि मिशन सायबर सेफ वर्ल्‍ड के तहत समिट हो रहा है. इससे प्रदेश ही नहीं बल्कि देशभर के अधिकारी कर्मचारियों को नॉलेज शेयरिंग, टेक्नोलॉजी, कोआर्डिनेशन, इन्वेस्टिगेशन, इंटेलिजेंस, थॉट लीडरशिप, क्राइम कंट्रोल, पीड़ित की मदद करने के टिप्स मिलेंगे. मध्‍यप्रदेश पुलिस चौथे साल ये हाइब्रिड मॉड में समिट कर रही है. उन्होंने यह भी कहा कि सायबर अपराधों की रोकथाम के लिए नॉलेज गेन और स्किल डेवलपमेंट समिट का उद्देश्‍य है.

ये भी पढ़ें-  डबरा का लाल है ब्रह्मास्त्र का विलेन सौरभ गुर्जर, WWE में जाने के लिए चुना बॉलीवुड

ऐसे कंट्रोल होगा साइबर क्राइम…
राज्य सायबर पुलिस और परिमल लेबस के साथ मिलकर साफ्टक्लिक्‍स फाउन्डेशन, क्‍लियरटेल टेक्‍नोलॉजी और यूनिसेफ के साथ साझेदारी में ये समिट किया जा रहा है. दस दिवसीय समिट में तीन दिन 12, 13 और 14 सितम्बर को ऑफलाइन होंगे. 35 से अधिक राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के लगभग 6 हजार से अधिक पुलिस / न्यायिक / अभियोजन / अन्य विभागों के अधिकारियों को जागरूक करने के लिए इस कार्यक्रम में अंर्तराष्ट्रीय, राष्ट्रीय विषय विशेषज्ञ ऑनलाइन उपस्थित होगें.

इन मुद्दों पर होगी चर्चा
CIIS 2022 में देश-विदेश जैसे-यूनिसेफ, इंटरपोल-सिंगापुर, नेशनल सायबर क्राइम लॉ इनफॉरसमेंट यू.के.पुलिस एवं नेशनल वाइट कॉलर क्राइम कॉन्‍टर यूएसए, एनपीए हैदराबाद के विषय विशेषज्ञ अलग अलग विषयों पर ट्रेनिंग देंगे. इसके अतिरिक्त डेटा प्राइवेसी एण्‍ड रिलेटेड लॉ इन इंडिया, वीओआईपी (VOIP), वीपीएन VPN, स्‍पूफ कॉलिंग, मेटर्स रिलेटेड टू डॉट, ड्रोन टेक्‍नोलॉजिस, एंटी ड्रोन, डिजिटल फॉरेंसिक, डीपफेक्‍स, ऑबसेनटिटी  आदि प्रमुख विषयों पर विशेषज्ञ सत्र और पैनल चर्चा होगी.

Tags: Cyber Export, Cyber ​​Crime, Madhya pradesh latest news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.