Take a fresh look at your lifestyle.

MP: कारोबारियों के साथ जमीन पर ही बैठ गए प्रभारी मंत्री, यूं दिखा सहज अंदाज

0 112

[ad_1]

ग्वालियर. ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की तरह ग्वालियर के प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट का सहज अंदाज भी देखने को मिला. दरअसल माध्यमिक शिक्षा मंडल के रद्दी टेंडर में गड़बड़ी की शिकायत लेकर आए कारोबारियों से बातचीत करने के लिए मंत्री सिलावट खुद जमीन पर ही बैठ गए. कारोबारियों की शिकायत थी कि रद्दी के टेंडर बंदूक की नोंक पर हो गए. जब कारोबारी कार के पास सड़क पर बैठ गए तो मंत्री सिलावट ने कारोबारियों के साथ सड़क पर बैठकर बात की और समस्या का समाधान कर दिया.

ग्वालियर के संभागीय माध्यमिक शिक्षा मंडल कार्यालय में रद्दी खरीदी को लेकर बुधवार को टेंडर बुलाए गए थे. करीब आधा दर्जन से ज्यादा रद्दी खरीदार टेंडर डालने के लिए जब पटेल नगर स्थित माध्यमिक शिक्षा मंडल कार्यालय पहुंचे तो वहां दोपहर 12 बजे से ही दफ्तर में ताला डाल दिया गया. अंदर पहले से मौजूद 3 लोगों ने ही टेंडर डाले. जबकि, आधा दर्जन से ज्यादा लोगों के टेंडर ही जमा नहीं कराए गए. टेंडर जमा नहीं हुए तो इन लोगों ने अंदर मौजूद अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन अधिकारियों ने भी उनकी नहीं सुनी.

डरा-धमकाकर भगा दिया
साथ ही, अंदर जो टेंडर डालने के लिए मौजूद लोगों  के साथ आए हथियारबंद लोगों ने इनको डरा धमका कर भगा दिया. जब टेंडर नहीं डाला डाल पाए तो ये लोग एसपी के पास पहुंचे. एसपी ने तत्काल मौके पर पुलिस फोर्स भेजा. उसके बाद जब यह लोग दोबारा टेंडर डालने के लिए गए तब भी इन्हें टेंडर नहीं डालने दिया गया. उस वक्त भी उन्हें हथियारों के दम पर धमकाया गया. इस दौरान वहां पहुंची पुलिस भी मूकदर्शक बनी रही. दोपहर 2:30 बजे जब दफ्तर बंद कर दिया गया तो यह लोग कलेक्ट्रेट में प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट से मिलने पहुंचे.

मंत्री ने कारोबारियों की शिकायत का समाधान किया
मंत्री सिलावट विकास कार्य की बैठक लेकर जब बाहर निकले तो रद्दी कारोबारी मंत्री की गाड़ी के सामने बैठ गए. कलेक्ट्रेट से बाहर निकले मंत्री ने जब इन लोगों को जमीन पर बैठा देखा तो मंत्री खुद इनके पास आकर जमीन पर बैठ गए और इनकी समस्या को सुना. रद्दी कारोबारियों ने टेंडर में गड़बड़ी की शिकायत, पूरी बात सुनने के बाद प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट ने ग्वालियर कलेक्टर को तत्काल टेंडर रद्द कराने के लिए निर्देश दिए. प्रभारी मंत्री ने कहा कि मध्य प्रदेश में गरीबों की सरकार है. मुख्यमंत्री किसान के बेटे हैं और हम सब जनता के सेवक हैं. इसलिए मैंने उनकी बात जमीन पर बैठकर सुनी है.

Tags: Gwalior news, Mp news

[ad_2]

Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.